Friday, March 7, 2008

तितली उड़ी

तितली उड़ी, बस में चढ़ी
सीट नहीं मिली
ड्राइवर ने कहा
आजा मेरे पास
तितली बोली " हट बदमास"
मैं तो चली वापस आकाश.

प्रसुतकर्ताः
स्तुति शर्मा

सोनाली


प्यारी चाँद सी गुडिया आई
खुशियों
का संदेशा लाई

झोली
भर लो मम्मी पापा दादी
को भी मेरी बधाई.


ममता के आँगन में "सोनाली" का शुभ आगमन. जीवन की संपूर्णता, शीतलता, शबनमी दादी सरिता रानी जी और सोनाली के माता पिता को मुबारक हो.
देवी नागरानी